Best Shayari Hub

Two Line Shayari

Are you looking for two lines Shayari? If yes then you are at the right place, we have a large collection of two-line Shayari in hindi.

New Two Line Shayari

कोई बड़े सपने नहीं है आसमा भी किसे चाहिए,
छोटी छोटी खुशियां और साथ तुम्हारा चाहिए।

हक़ीक़त में ना सही तो ख्वाबो में ही सही,
हर बार इज़हार मुकम्मल तो होता है।

Haqiqat me naa sahi to khwabo me hi sahi,
Har bar ijhaar muqammal to hota hai.

जलाकर अपना कलेजा चाय को बाहों में भरता है,
कुल्हड़ जैसा इश्क़ भला कौन करता है।

Jalakar apna kaleja chai ko baaho me bharta hai,
Kulhad jesa ishq bhala kon karta hai.

वो नासमझी का बचपन ही अच्छा था,
बड़े क्या हुए हर चीज समझ बैठे।

Wo naasamjhi ka bachpan hi achha tha,
Bade kya hue har chij samajh bethe.

अपनी कमियों को छुपाने में इतना मशरूफ हो गए सब,
अपनी कामयाबियों को ऊजागर नहीं कर पा रहे अब।

Apni kamiyon ko chupane me itna mashroof ho gye sab,
Apni kamiyabiyo ko ujagar nahi kar paa rahe ab.

कुदरत का मिजाज ही कुछ ऐसा है,
खुद को मिटा देना होता है फिर से खुद को बनाने के लिए।

Kudrat ka mijaj hi kuch esa hai,
Khud ko mita dena hota hai fir se
khud ko banane ke liye.

तू किसी coding की तरह उलझी सी,
मैं किसी coder की तरह सुलझा सा।

Tu kisi coding ki tarah uljhi si,
Me kisi coder ki suljha sa.

Latest Two Line Shayari

हम तो मासूम से लड़के है… हमारा क्या है,
तुम तो फरिश्तों को भी अपना दीवाना बना सकती हो।

Hum to maasum se ladke hai… hamara kya hai,
tum to farishton ko bhi apna deewana bana sakti ho.

सितम तो ऐसा है की हम उसे छु भी नहीं सकते,
बड़ी तमन्ना है जिसे दिल लगाने की।

Sitam to esa hai ki hum use chu bhi nahi sakte,
badi tamanna hai jise dil lagane ki.

अच्छा लगता है मेरा नाम तुम्हारे नाम के साथ,
जैसे कोई सुबह जुड़ी हो शाम के साथ।।

Achha lagta hai mera naam tumharr naam ke sath,
jaise koi subah judi ho sham ke sath.

जरुरत नहीं मुझे दुनिया के नजारो की,
मेरे लिए तुम्हारा चेहरा ही काफी है।।

Zarurat nahi mujhe duniya ke najaro ki,
mere liye tumhara chehra hi kaafi hai.

टूट गया हु अधूरे ख्वाबो के सितम देखकर,
वरना ज़माने से मोहब्बत निभाने की ख्वाहिशे
लेकर में भी निकला था।

Tut gaya hu adhure khwabo ke sitam dekhkar,
warna zamane se mohabbat nibhane ki
khwahise lekar me bhi nikla tha.

Two line shayari

चाँद को बहुत समय हो गया अपनी टक्कर का कोई देखे..
तुम छत पर क्यों नहीं आती…????

Chaand ko bahut samay ho gaya apni takkar ka koi dekhe..
tum chat pr kyu nahi aati…????

रात भर जागता हु एक ऐसे शख्स के ख़ातिर,
जिसे दिन के उजाले में भी मेरी याद नहीं आती।।

Raat bhar jaagta hu ek ese shaks ke khaatir,
jise din ke ujaale me bhi meri yaad nahi aati.

जिंदगी भर एक शख्स से हारे है हम,
जरा सोचो कितने बेचारे है हम।

Zindagi bhar ek shaks se haare hai hum,
jara socho kitne bechaare hai hum.

इश्क़ में उजड़ा, लगा कुछ ऐसे जीने,
चाय छोड़ चल दिया में शराब पीने।

Ishq me ujda,laga kuch ese jeene,
chai chod chal diya me sharab peene.

Two line Shayari

कुछ यूँ चर्चे है उनकी आँखों के
कुछ यूँ चर्चे है उनकी आँखों के,
कैद खाने है बिन सलाखों के।

kuch yun charche hai unki aankho ke
kuch yun charche hai unki aakho ke,
kaid khane hai bin salakho ke.

एक चेहरा मेरी आँखो में आबाद हो गया
उसे इतना पड़ा, की वो मुझे याद हो गया।

Ek chehra meri aankho me aabad ho gaya,
use itna pada, ki wo mujhe yaad ho gaya.

Mausam shayari

वाह मौसम आज तेरी अदा पर दिल खुश हो गया
याद मुझे आयी और बरस तू गया

Waah mausam aaj teri ada par dil khush ho gaya
yaad mujhe aayi aur baras tuu gaya