Best Shayari Hub

Hindi poems

तन नही छुता कोई, चेतन निकल ने के बाद,
फेक देते है फूल लोग, उसकी खुशबू नीकल ने के बाद,
भुल जाते है लोग अपना काम निकल ने के बाद,
रेह जाती है उसकी यादे उसके जाने के बाद,
बदल लेते है लोग अपना रास्ता एक हार के बाद,
बोलो मत कुछ ऐसा, रूके ना वो तुमहारी सुनने के बाद,
रोते रेह जाते है लोग समय निकल के बाद,
जाना पड़ता है समसान, रुह निकलने के बाद।

Tan nahi chuta koi, chetan nikalne ke baad,
fek dete hai fool log, uski khushboo nikalne ke baad,
bhool jate hai log apna kaam nikalne ke baad,
reh jaati hai uski yaade uske jaane ke baad,
badal lete hai log apna rasta ek haar ke baad,
bolo mat kuch esa, ruke naa wo tumhari sunne ke baad,
rote reh jaate hai log samay nikalne ke baad,
jaana pdta hai samsaan, rooh nikalne ke baad,

Leave a Reply