Best Shayari Hub

Maa Shayari in Hindi

कमजोर नहीं हु उतना मैं,
पर कुछ नमी सी छा जाती है इन आखों मैं,
जब माँ की याद आ जाती है,
इन बातो बातो में।

Kamzor nahi hu utna me,
pat kuch nami si chaa jaati hai
inn aankho me,
jab maa ki yaad aa jati hai,
inn baato baato me.

माँ पर यकीन था
इसलिए शायद उसे इतना सताते थे,
मासूमियत से अपनी सारी जिद पूरी करवाते थे,
माँ मनाने आएगी इसलिए रूठ जाया करते थे,
माँ हाथों से खिलायेगी इसलिए खाने पे गुस्सा करते थे,
नहीं पता था की ये ज़माना माँ का आँचल नहीं,
जिसमें सिमट सारे जग का सुकून पा जाते थे।

Maa par yakeen tha
isliye shayad use itna satate the,
maasumiyat se apni saari jid puri karwate the,
maa manane ayegi isliye ruth jaya krte the,
maa haatho se khilayegi isliye khaane pe gussa krte the,
nahi pata tha ki ye zamana maa ka aanchal nahi,
jismen simat saare jag ka sukun paa jate the.

Leave a Reply