Best Shayari Hub

Yaad shayari

हर सुबह उठ रहा हु एक नयी निराशा के साथ
लगता है कुछ नहीं रखा है इस बेगानी ज़िन्दगी में
ये छोड़ गयी अपना हाथ
पर फिर जीने की ख्वाहिश आ जाती है
उनकी खुशियो के साथ
और फिर बढ़ने लगता हु किसी भी और
उनकी यादों के साथ

Har subah uth raha hu ek nayi nirasha ke sath,
lagta hai kuch nahi rakha hai iss begani zindagi me
ye chod gayi apna hath,
Par fir jeene ki khwahish aa jati hai
unki khushiyo ke sath,
Aur fir badne lagta hu kisi bhi or
unki yaadon ke sath

आज फिर अधूरी रेह गयी
जो लिख रहा था तुझे भुला देने वाली शायरी
क्योंकि तेरी एक झलक की दीवानी ये नजरें
आज फिर तुझे देख बगावत कर बेठी बावरी

Aaj fir adhuri reh gayi
jo likh raha tha tujhe bhula dene wali shayari
kyuki teri ek jhalak ki deewani ye najre
aaj fir tujhe dekh bagawat kar bethi

बहुत याद आती है तेरी
पर तुझे आवाज ना दूंगा,
लिखूंगा हर शायरी तेरे लिए
पर तेरा नाम ना लूंगा।

Bahut yaad aati hai teri
par tujhe aawaj naa dunga,
likhunga har shayari tere liye
par tera naam na lunga.

Aankhein shayari for status

जो आँखे है तुम्हारी
क्या ही बवाल करती है
पास रहू तो खुद जाम पे जाम पिलाती है
और दूर रहू तो हर पल सवाल करती है

Jo aankhein hai tumhari
Kya hi bawal karti hai
Paas rahu to khud jaam pe jaam pilati hai
aur door rahu to har pal sawal karti hai
Credit~Yashonil Patidar

Alone Shayari

उजालो में चैन नहीं
मुझे थोड़ी सी रात भी चाहिए
भूल जाऊ उसके खयालो को
मुझे वो बात भी चाहिए

Ujaalo me chain nahi
Mujhe thodi si raat bhi chahiye
Bhul jau uske khayalo ko
Mujhe wo baat bhi chahiye

एक आग लगी थी मेरे अंदर
उसी आग को बुझा रहा हूँ,
हर दफा नाकाम हुआ मैं
फिर भी उसे भूलने की कोशिश किये जा रहा हूँ।

Ek aag lagi thi mere andar
usi aag ko bujha raha hu,
har dafa naakam hua me
fir bhi use bhulne ki kosis
kiye jaa raha hu.

मुस्कुराता रोज हु
पर खुश हुए ज़माना हो गया,
मुस्कुराता रोज हु
पर खुश हुए ज़माना हो गया,
दिन नहीं बीते है
गिनती के चार,
पर ऐसा लगता है
देखे ज़माना हो गया!

Muskurata roj hu
par khush hue zamana ho gya,
Muskurata roj hu
par khush hue zamana ho gya,
din nahi beete hai
ginti ke chaar
par esa lagta hai
dekhe zamana ho gya.

कभी नजदीकियों के किस्से मशहूर थे जिनसे
वो आज फासलों के बहाने नापते है,
ठहाकों की महफ़िलो के मशहूर वो शख्स
आज मुस्कुराने की वजह तलाशते है।

Kabhi najdikiyo ke kisse mashhoor the jinse
wo aaj faaslo ke bahane naapte hai,
thahako ki mehfilo ke mashhoor wo shaks
aaj muskurane ki wajah talashte hai.

Tears Shayari for Heart-broken

मुझे रोता देख तक़लीफ़ थी उसे आने में
बेवफा दूर बेठी पूछती है
कितनी देर लगेगी
मेरी यादों को दफ़नाने में

Mujhe rota dekh taqlif thi use aane me
Bewafa door bethi puchti hai
kitni der lagegi
meri yaado ko dafnane me

आंसू बैठे है कैद इन पलकों में,
कभी राब्ता कीजिएगा इनकी गहराइयों से।।
यूं अनायास,बियाबान में खोने से,
उसकी गहराइयों का पता नहीं चलता।।।।

Aansu bethe hai kaid inn palko me,
kabhi raabta kijiyega inki gehraiyo se..
yu anayaas, biyabaan me khone se,
uski gehraiyo ka pata nahi chalta……