Latest Sad shayari collection

ये इश्क़ मोहब्बत की
रिवायत भी अजीब है,
पाया नहीं है जिसको
उसे खोना भी नहीं चाहते।

Ye ishq mohabbat ki
rivayat bi ajeeb hai,
paya nahi hai jisko
use khona bhi nahi chahte.

वो मुकम्मल हो गया
किसी और से दिल लगाकर,
मैं आज भी हूँ अधूरा
उसके इनकार को लेकर।