Sad Alone Shayari

ना वक़्त कट रहा..
और ना जज़्बात बट रहे,
अकेले से रेह गए हम..
बस फ़रियाद कर रहे,
कोई ख़ुशी की नुमाइश कर रहे
तो कोई ख़ुशी की ख्वाइश,
अकेले से रेह गए हम
बस एहतियात बरत रहे।।।।