Best Shayari Hub

bhulna shayari

Alone shayari in hindi 2022

तुझ संग बनाये आशियाने आज भी वीरान है
तेरे जाने के बाद उन्होंने खो दी अपनी पहचान है,
आज भी मैं उनमे अकेला हु तेरे लौट आने की आस में
आज भी तनहा हु मै तेरी तलाश में।।

Tujh sang banaye aashiyane aaj bhi veeran hai
Tere jane ke bad unhone kho di apni pehchan hai,
Aaj bhi main unme akela hu
Tere laut aane ki aas me
Aaj bhi tanha hu main
Teri talash me.

अपने दिल की बात दिल में रखकर
आज खत्म कर रहा हूं मैं ये इश्क का किस्सा…..
अब दिल तेरा करे तो बंया करना इश्क तेरा
क्योंकि आज भी मुझसे ज्यादा मुझपे हक है तेरा …..

Apne dil ki baat dil me rakhkar aaj
Khatm kr raha hu ye ishq ka kissa…
Ab dil tera kare to baya karna ishq tera
Kyuki aaj bhi mujhse jyada mujhpe haq hai tera.

सौंप दू मै खुद ही अपना सबकुछ उसे,
पर मेरा सबकुछ उसपर यु ही जाया न जाये,
गर वो चाहे तो मै चला भी जाऊ,
बस केह दो उससे के नींद मेरी मुझे वापस दे जाए

Sonp du main khud hi apna sabkuch use,
Par mera sabkuch uspar yu hi jaya na jaye,
Gar wo chahe to me chala bhi jau,
Bas keh do usko ke nind meri mujhe wapis de jaye.

तुझसे दूर होकर भी
तेरी सलामती की दुआ मांगी है
चंद शब्दों में बयां ना हो
ऐसी हमारी अधूरी कहानी है।।

Tujhse dur hokar bhi
Teri salamati ki dua mangi hai…
Chand shabdo me bayan na ho
Esi hamari adhuri kahani hai.

शिकायत तो क्या अब तुमसे
इश्क की बात तक नहीं करूंगा…..
तुम तरस जाओगे मेरे होठों से
इश्क के अल्फाज सुनने को
मैं होठों से क्या अब आखों से
भी बयां नहीं करूंगा….

Shikayat to kya ab me tumse
ishq ki baat tak nhi karunga…
Tum taras jaoge mere hontho se
ishq ke sunne ko…
Main hontho se kya
Ab aankho se bhi baya nahi karunga.

Bhula dena shayari

एक आग लगी थी मेरे अंदर,
उसी आग को बुझा रहा हूँ,
हर दफा नाकाम हुआ मैं,
फिर भी उसे भूलने की कोशिश किये जा रहा हूँ।

Ek aag lagi thi mere andar,
usi aag ko bujha raha hu,
har dafa naakam hua me,
fir bhi use bhulne ki kosis
kiye jaa raha hu.

Hindi Shayari

खलने लगी है कमी आसमां को उन परिंदों की,
जो कभी अपनी उड़ान से आसमान सजाते थे,
आज़ादी के जश्न में डूबे वो परिंदे
अब नजर कहा आते है।।

Khalne lagi hai kami aasman ko
unn parindo ki,
jo kabhi apni udaan se aasman sajate the,
aazadi ke jashn me dube wo parinde
ab najar kaha aaye hai.

Click here to read :
LOVE SHAYARI
SAD SHAYARI
INTEZAR SHAYARI