Sad poem in hindi

अपने आंसुओं को इस दिल के समंदर
की लहरों से आजमाया ना कर,
तू आग का एक दरिया भी है,
यूं चंद आंसुओं के लिए इसे ज़ाया ना कर।।
के कुछ के चले जाने से तू कभी गमगीन ना होना,
थक के कुछ देर बैठ जा,
मगर इस दिल को कभी हराया ना कर।।।।
तू खुद को कभी आजमाया ना कर,अपने दिल को यूं रुलाया ना कर।।

Apne aasuo ko iss dil ke samandar
ki lehro se aajmaya naa kar,
tu aag ka ek dariya dariya bhi hai,
yu chand aasuo ke liye ise jaaya naa kar..
ke kuch ke chale jaane se tu kabhi gamgin naa hona,
thak ke kuch der beth jaa,
magar iss dil ko kbhi haraya naa kar….
tuu khud ko aajmaya naa kar, apne dil ko yu rulaya naa kar.