Best Shayari Hub

muskurane wali shayari

New Two Line Shayari

कोई बड़े सपने नहीं है आसमा भी किसे चाहिए,
छोटी छोटी खुशियां और साथ तुम्हारा चाहिए।

हक़ीक़त में ना सही तो ख्वाबो में ही सही,
हर बार इज़हार मुकम्मल तो होता है।

Haqiqat me naa sahi to khwabo me hi sahi,
Har bar ijhaar muqammal to hota hai.

जलाकर अपना कलेजा चाय को बाहों में भरता है,
कुल्हड़ जैसा इश्क़ भला कौन करता है।

Jalakar apna kaleja chai ko baaho me bharta hai,
Kulhad jesa ishq bhala kon karta hai.

वो नासमझी का बचपन ही अच्छा था,
बड़े क्या हुए हर चीज समझ बैठे।

Wo naasamjhi ka bachpan hi achha tha,
Bade kya hue har chij samajh bethe.

अपनी कमियों को छुपाने में इतना मशरूफ हो गए सब,
अपनी कामयाबियों को ऊजागर नहीं कर पा रहे अब।

Apni kamiyon ko chupane me itna mashroof ho gye sab,
Apni kamiyabiyo ko ujagar nahi kar paa rahe ab.

कुदरत का मिजाज ही कुछ ऐसा है,
खुद को मिटा देना होता है फिर से खुद को बनाने के लिए।

Kudrat ka mijaj hi kuch esa hai,
Khud ko mita dena hota hai fir se
khud ko banane ke liye.

तू किसी coding की तरह उलझी सी,
मैं किसी coder की तरह सुलझा सा।

Tu kisi coding ki tarah uljhi si,
Me kisi coder ki suljha sa.

Latest Love Shayari In Hindi

मैं वक़्त से वक़्त चुराऊंगा..
अपनी सादगी से तुझको निखार जाऊंगा,
तू बस साथ देना मैं अपना दिल क्या
मेरी पूरी ज़िन्दगी तेरे नाम कर जाऊंगा।

Main waqt se waqt churaunga..
Apni sadgi se tujhko nikhar jaunga,
Tu bas saath dena me apna dil kya
Meriii puri zindagi tere nam kar jaunga.

जबसे तुझे मुस्कुराते हुए देखा है
बस उसके बाद से और कुछ नहीं देखा है,
सोचा करदू तुझे अपनी नज़रो से दूर
लेकिन कल रात मेने फिरसे… तुझे अपने एक खूबसूरत ख्वाब में देखा है!!

Jabse tujhe muskuraate huye dekha hai
Bas uske bad se or kuch nahi dekha hai,
Socha kr du tujhe apni najro se dur
Lekin kal rat fir… mene tujhe apne ek khubsurat khwab me dekha hai.

वो कितनी खास है मेरे लिए
शब्द कम है ये जताने के लिए ,
वो कितनी खास है मेरे लिए
शब्द कम है ये जताने के लिए,
उसका एक ख्याल ही काफी है
मुझे सारा दिन मुस्कुराने के लिए।

Wo kitni khaas hai mere liye
shabd kam hai ye jatane ke liye,
Wo kitni khaas hai mere liye
shabd kam hai ye jatane ke liye,
uska ek khayal hi kaafi hai
mujhe saara din muskurane ke liye.

बीमार ऐ दिल से और क्या उम्मीद हो सकती है..
उनकी आँखो के अलावा
भला किसी और की तारीफ कैसे हो सकती है!

Bimaar ae dil se or kya umeed ho sakti hai..
unki aakhon k alawa
bhala kisi or ki tarif kese ho sakti hai.

कैसे बन जाऊ मैं हीर, हर किसी दीवाने की
जब वजह ही तुम बन बैठे मेरे मुस्कुराने की!

Kaise ban jau me heer, har kisi deewane ki
jab wajah hi tum ban bethe muskurane ki.

Click here for more Shayari in Hindi