Sad Shayari In Hindi

जब पहली दफ़ा तुम्हें देखा था मेने,
लगा ना जाने क्यों लोग दुनिया में गुम हो जाते है,
जबकि मैं तो बस तुम्हारी आँखों में ही गुम हो गया।
जैसे इस चेहरे को मुस्कान का सहारा
मिला हो और दिल को नयी बैचैनी।
सोचता हु की सारी उमर तेरी उन नजरों को ही ताकता रहू
बस तिलगी में आकर थाम लेना तू ये दामन मेरा,
आखिर कब तलक तेरी नज़रों से यु भागता रहू।।

Jab pehlu dafa tumhe
dekha tha mene,
laga na jane kyu log duniya
me gum ho jate h,
jabki me to bas tumhari aakho
me hi gum ho gya hu,
jaise is chehre ko muskan ka sahara
mila ho or dil ko nayi bechaini.
sochta hu ki saari umar teri
un nazro ko hi taakta rahu,
bas tilgi me aakar thaam le
tu ye daaman mera,
aakhir kab talak teri
nazro se yu bhagta rahu.

लगता है ख़ामोशी मज़बूरी है मेरी
पर तेरा हर सवाल अच्छा लगता है,
यूँ तो ऐसा कभी कोई दिन ना बिता
जिस दिन तेरा ख्याल ना आया हो,
अधिकतर रातों को सपनो में तेरा
कोई पैगाम ना आया हो,
सोचा था की तेरे बिन मेरा कोई वजूद नहीं है जैसे
और खो गया था तुझमे खो के खुद को ऐसे,
पर अब जब जा चुके हो तुम
जो मुझसे यूँ दूर…..
तब जाके जाना की आदत नहीं थी तेरी
सिर्फ तेरा साथ अच्छा लगता है।